अस्थिर बाजार में कहां करें निवेश? इक्विटी, गोल्ड या FD कौन-सा विकल्प सबसे बेहतर

इस अस्थिर माहौल में जहां इक्विटी से लेकर कमोडिटी तक इन्वेस्टमेंट के हर सेगमेंट ने रिटर्न के मामले में निराशा किया है, ऐसे में पैसा कहां लगाया जाए? क्या निवेशकों को जोखिम उठाकर किसी दूसरे एसेट क्लास में इन्वेस्ट करना चाहिए.

Surf all day!

निवेशकों को जोखिम क्षमता और वित्तीय लक्ष्यों को ध्यान में रखते हुए रणनीति बनानी चाहिए. अगर आपका नजरिया 5 साल या उससे ज्यादा का है तो इक्विटी एक अच्छा ऑप्शन है लेकिन कम वक्त में इससे अच्छे रिटर्न की उम्मीद नहीं की जा सकती है.

इक्विटी मार्केट ने साल 2022 में रिटर्न के मामले में निराश किया है. कैलेंडर ईयर 2022 में इक्विटी मार्केट -2.3% नीचे रहा. इसकी सबसे बड़ी वजह रही जियो-पॉलिटिकल टेंशन से महंगाई दरों में बढ़ोतरी व ब्याज दरों से जुड़ी चिंताएं.

इक्विटी मार्केट ने साल 2022 में रिटर्न के मामले में निराश किया है. कैलेंडर ईयर 2022 में इक्विटी मार्केट -2.3% नीचे रहा. इसकी सबसे बड़ी वजह रही जियो-पॉलिटिकल टेंशन से महंगाई दरों में बढ़ोतरी व ब्याज दरों से जुड़ी चिंताएं.

फिर भी एक्सपर्ट लंबी अवधि के लिए सरप्लस फंड का 40 से 50 फीसदी हिस्सा शेयर बाजार में निवेश करने की सलाह दे रहे हैं और एसआईपी के जरिए इन्वेस्ट किया जा सकता है.

एक्सपर्ट्स का कहना है कि फिक्स्ड डिपॉजिट और सरकारी बॉन्ड करीब 6-7 फीसदी का रिटर्न दे सकते हैं, जबकि सोना में निवेश से उतने बेहतर रिटर्न की गुंजाइश नहीं है. अगर सोने में 10 फीसदी की गिरावट आती है तो अगले 12 महीने सोने में निवेश के अच्छे अवसर मिल सकते हैं.

एक्सपर्ट्स का कहना है कि फिक्स्ड डिपॉजिट और सरकारी बॉन्ड करीब 6-7 फीसदी का रिटर्न दे सकते हैं, जबकि सोना में निवेश से उतने बेहतर रिटर्न की गुंजाइश नहीं है. अगर सोने में 10 फीसदी की गिरावट आती है तो अगले 12 महीने सोने में निवेश के अच्छे अवसर मिल सकते हैं.

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी हो तो दोस्तों के साथ Share करे शुक्रिया