mutual fund information in hindi

म्यूचुअल फंड क्या है HINDI सूचना | HINDI में म्यूचुअल फंड की जानकारी।

म्यूचुअल फंड HINDI सूचना | HINDI में MUTUAL FUNDकी जानकारी

इन दिनों आपने टीवी विज्ञापनों के साथ-साथ कई लोगों के मुंह से भी म्यूचुअल फंड के बारे में सुना होगा और आपके मन में यह सवाल जरूर आया होगा कि म्यूचुअल फंड क्या है? म्यूचुअल फंड कैसे काम करते हैं? तो आज की पोस्ट के माध्यम से मैं आपके मन की सभी शंकाओं को दूर करने का प्रयास करूंगा। आज हम यह जानने वाले हैं कि म्यूचुअल फंड क्या  है (म्यूचुअल फंड HINDI में क्या है) और  म्यूचुअल फंड HINDI जानकारी  (म्यूचुअल फंड HINDI जानकारी)

 

म्यूचुअल फंड और शेयर बाजार में अंतर

बहुत से लोग सोचते हैं कि म्यूचुअल फंड और शेयर बाजार समान हैं। लेकिन फर्क यह है कि शेयर बाजार में जोखिम ज्यादा होता है और मुनाफा भी ज्यादा होता है लेकिन अगर आप म्यूचुअल फंड में निवेश करते हैं तो आपके पैसे खोने का जोखिम कम होता है और शेयर बाजार की तुलना में मुनाफा कम होता है। शेयर बाजार में एक ही कंपनी में पैसा लगाया जाता है जबकि म्यूचुअल फंड में फंड मैनेजर अलग-अलग कंपनियों में थोड़ा-थोड़ा करके निवेश करता है।

 

म्यूचुअल फंड क्या है? | HINDI में MUTUAL FUNDकी जानकारी

आसान शब्दों में म्यूच्यूअल फण्ड कई लोगों के पैसे से बना एक फण्ड है। म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश किया गया पैसा उस कंपनी द्वारा अलग-अलग जगहों पर निवेश किया जाता है और उससे निवेशक को ज्यादा से ज्यादा फायदा देने की कोशिश की जाती है।

किसी भी म्यूचुअल फंड का प्रबंधन एक पेशेवर फंड मैनेजर द्वारा किया जाता है। एक पेशेवर फंड मैनेजर का काम उस विशेष फंड का प्रबंधन करना और फंड के पैसे को सही जगह पर निवेश करना होता है। आसान शब्दों में कहें तो इसका काम है लोगों के पैसे का निवेश करना और ज्यादा से ज्यादा मुनाफा कमाना। म्यूचुअल फंड का पैसा सिर्फ एक जगह निवेश करने के बजाय अलग-अलग कंपनियों में निवेश किया जाता है। जिसका मतलब है कि पैसे खोने की संभावना कम है। क्योंकि अगर किसी एक कंपनी को नुकसान होता है, तो बाकी कंपनियां उस दौरान विकसित होती रहती हैं और इस तरह अतिरिक्त नुकसान के जोखिम से बचा जाता है।

 

म्यूचुअल फंड में निवेश कैसे करें? HINDI में म्यूचुअल फंड कैसे निवेश करें

आज के इंटरनेट युग में घर से म्यूचुअल फंड में निवेश करने के कई तरीके हैं। आप अपने पैसे को कई Android ऐप्स और वेबसाइटों के माध्यम से म्यूचुअल फंड में निवेश कर सकते हैं। कुछ प्रसिद्ध म्यूचुअल फंड ऐप्स इस प्रकार हैं। ग्रो, माई कैम, इन्वेस्टटैप, केट्रैक मोबाइल ऐप, पेटीएम मनी, ईटी मनी आदि।

लेकिन मैं आपको MUTUAL FUNDमें निवेश करने के लिए ग्रो ऐप का उपयोग करने का सुझाव दूंगा। क्योंकि इस ऐप में आपसे कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं लगता है। यह ऐप अपने ग्राहकों से कमीशन प्राप्त किए बिना सीधे म्यूचुअल फंड से कमीशन एकत्र करता है।

 

म्यूचुअल फंड में निवेश के तरीके

एक निवेशक म्यूचुअल फंड में दो तरीकों से निवेश कर सकता है। पहला है Lump Sum और दूसरा है SIP यानी सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान।

1)लंप सम

लंप समनिवेश प्रकार में, निवेशक एक बार में बड़ी राशि का निवेश करते हैं। और बार-बार निवेशक इसमें पैसा नहीं लगाते हैं।

अगर आपके पास बड़ी मात्रा में पैसा पड़ा हुआ है और आप उसे सही जगह निवेश करना चाहते हैं, तो आप उसे एकमुश्त म्यूचुअल फंड में निवेश कर सकते हैं।

 

2)सिस्टिमॅटिक इन्व्हेस्टमेंट प्लॅन

(एसआईपी)

SIP को सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान कहा जाता है। इस प्रकार में, एक निवेशक नियमित रूप से म्यूचुअल फंड में एक निश्चित राशि का निवेश करता है। निवेश की यह अवधि साप्ताहिक, मासिक या हर चार महीने में हो सकती है।

 

इस प्रकार का SIP उन लोगों के लिए है जो काम से बाहर हैं, और जिन्हें प्रति माह वेतन मिलता है। ऐसे लोग हर महीने अपने वेतन से कुछ पैसे बचा सकते हैं और इसे म्यूचुअल फंड में निवेश के रूप में निवेश कर सकते हैं।

 

 

म्यूचुअल फंड के प्रकार (म्यूचुअल फंड प्रकार HINDI में)

म्यूचुअल फंड को जोखिम, रिटर्न, आकार और निवेश के आधार पर कई प्रकारों में बांटा गया है। हम नीचे कुछ प्रकार दे रहे हैं-

 

1)इक्विटी म्यूचुअल फंड

एक इक्विटी म्यूचुअल फंड योजना सीधे शेयर बाजार में पैसा निवेश करती है। अगर इसमें कम समय के लिए पैसा लगाया जाए तो नुकसान होने की संभावना रहती है। लेकिन अगर आप लंबी अवधि के लिए इक्विटी म्यूचुअल फंड में निवेश करते हैं तो यह आपको अच्छा रिटर्न देगा।

 

2) फिक्स्ड इनकम फंड

इस प्रकार के म्यूचुअल फंड निवेशक को निश्चित रिटर्न प्रदान करते हैं। बैंक FD की तरह यहां पर मिलने वाला ब्याज भी फिक्स होता है. जो लोग थोड़ा भी रिस्क लेने को तैयार नहीं हैं उन्हें इस तरह के म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करना चाहिए।

 

3) डेट फंड

इस प्रकार के म्यूच्यूअल फण्ड में जोखिम भी कम होता है। इसमें निवेशक डिबेंचर, सरकारी बॉन्ड और अन्य सरकारी के साथ-साथ फिक्स्ड इनकम कंपनियों में निवेश करते हैं। तो डेट फंड एक निश्चित आय प्रदान करता है।

 

4)हाइब्रिड म्यूचुअल फंड

हाइब्रिड म्यूचुअल फंड एक से अधिक एसेट में निवेश करते हैं। एक हाइब्रिड म्यूचुअल फंड इक्विटी फंड और डेट फंड दोनों का एक संयोजन है।

 

तो मण्डली MUTUAL FUND में निवेश के बारे में जानकारी थी। मुझे उम्मीद है कि इस लेख को पढ़ने के बाद आपके म्यूचुअल फंड  की बुनियादी  शंकाएं दूर हो जाएंगी।

इस लेख में आपको म्यूचुअल फंड HINDI दी गई है । जिससे आपको म्यूच्यूअल फण्ड की  बेसिक जानकारी  मिल गयी है । अगर आपको अभी भी म्यूच्यूअल फण्ड के बारे में कोई संदेह है तो आप नीचे कमेंट करके हमसे पूछ सकते हैं.. 

 

Leave a Comment