CONTENT WRITING क्या है? कैसे करें और पैसे कैसे कमाए? | how to do content writing hindi

Table of Contents

CONTENT WRITING क्या हैकैसे करें और पैसे कैसे कमाए? | CONTENT WRITING का हिंदी  में क्या मतलब होता है?

 

हेलो दोस्तों आपने CONTENT WRITING नाम तो सुना ही होगा। तो हिंदी  में CONTENT WRITING का क्या अर्थ होता है? ऐसा सवाल आपने जरूर पूछा होगा। आजकल सोशल मीडिया पर हम CONTENT WRITINGके बारे में इमेज या जानकारी देखते हैं। तो CONTENT WRITING वास्तव में क्या है? यह हम इस ब्लॉग में देखेंगे।

मेरा एक कॉलेज का दोस्त है। इस तरह हम एक बार मिलने के बाद एक-दूसरे के बारे में पूछते थे। तो उन्होंने कहा कि मैं घर बैठे सिर्फ लिखकर पैसा कमा रहा हूं! तब इसके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं थी, इसलिए मुझे भी विश्वास नहीं हुआ।

लेकिन जब उसने अपना सारा विवरण दिखाया और अपनी कमाई भी दिखाई, तो मुझे इसके बारे में समझ में आया और मैंने इसकी सारी जानकारी ले ली।

जी हाँ ये सच है दोस्तों आप भी घर बैठे सिर्फ लिखने का काम करके अच्छा पैसा कमा सकते हैं.

हम में से बहुत से लोग लिखना पसंद करते हैं। फिर इसमें कविता, शायरी, लेख, कहानियां, लोगों के व्यक्तित्व जैसी कई चीजें शामिल हैं। तो आप अपने हुनर ​​का इस्तेमाल करके घर बैठे पैसे कमा सकते हैं। लेकिन हम में से बहुत से लोग यह नहीं जानते कि इससे पैसे कैसे कमाए?

कुछ लोग पैसा कमाना जानते हैं लेकिन लिख नहीं सकते। दोस्तों लिखना मुश्किल नहीं है, लिखना भी एक कला है। अगर आप इस कला में महारत हासिल कर सकते हैं तो आप घर बैठे भी पैसे कमा सकते हैं। इस कौशल को CONTENT WRITING कहा जाता है।

तो आइए हम आपको इस लेख में बताते हैं कि घर से काम करके ऑनलाइन पैसे कमाने का सबसे लोकप्रिय तरीका CONTENT WRITINGक्या हैCONTENT WRITING हिंदी  में मतलब.

अगर आप भी इंटरनेट पर घर बैठे लिखकर पैसे कमाना चाहते हैं तो आपको इस लेख/ब्लॉग को बहुत ध्यान से पढ़ना चाहिए क्योंकि हमने ऑनलाइन पैसे कमाने के शानदार तरीके के बारे में सारी जानकारी दी है।

तो चलिए अब अपनी हिंदी  भाषा से देखते हैं कि CONTENT WRITINGक्या है? और कंटेंट राइटर बनकर आप लाखों कैसे कमा सकते हैं?

CONTENT WRITINGको समझने वाला पहला कंटेंट कौन सा है? आइए इसे समझते हैं।

CONTENT क्या हैहिंदी  में कंटेंट का क्या अर्थ होता है?

यदि आप Google पर खोज करते हैं तो यह हिंदी  में CONTENT का अर्थ दिखाएगा। लेकिन लिखने में कंटेंट का मतलब होता है कि आप कुछ लिखें। इसमें कुछ भी हो सकता है। उदा. लेख, कविताएं, संग्रह, विचार, संदेश, कहानियां, शायरी, सूचना आदि।

यानी जब आप कोई जानकारी लिखते हैं तो उसे कंटेंट कहते हैं।

इंटरनेट पर तीन प्रकार की CONTENT है।

  • श्रव्य CONTENT – जब आप सूचना, लेख या कुछ भी सुनते हैं, तो वह CONTENT ऑडियो CONTENT होती है। उदा. पॉडकास्ट, रेडियो, आदि।
  • वीडियो CONTENT – जिस CONTENT से आप वीडियो के माध्यम से जानकारी प्राप्त करते हैं उसे वीडियो CONTENT कहा जाता है। उदा. यूट्यूब, फिल्में, आदि।
  • टेक्स्ट कंटेंट – जिस कंटेंट को आप पढ़ सकते हैं उसे टेक्स्ट कंटेंट कहा जाता है। उदा. ब्लॉग/लेख, किताबें, आदि।

 

जैसे WRITING पाठ्य CONTENT में किया जाता है और लिखित CONTENT को पढ़ा जाता है, CONTENT WRITING पाठ्य CONTENT में होता है।

तो CONTENT WRITINGक्या है? और चलिए देखते हैं CONTENT WRITINGकैसे करते हैं।

CONTENT WRITINGक्या है?

CONTENT WRITINGका हिंदी  में क्या मतलब होता है?

अगर आसान शब्दों में कहें तो CONTENT WRITING का मतलब किसी भी टॉपिक पर आर्टिकल लिखना है।

हिंदी  में CONTENT WRITING का मतलब टेक्स्ट / सूचना लिखना होता है। आपके TARGET AUDIENCE तक एक प्रभावी संदेश/पाठ देने के लिए जो संदेश/पाठ लिखा जाता है, उसे CONTENT WRITING कहा जाता है।

व्यक्तिगत ब्लॉग, कंपनी की वेबसाइटों, समाचार चैनलों के लिए CONTENT WRITING किया जाता है। यानी लिखित के जरिए सारी जानकारी लोगों तक पहुंचाने के लिए किया जाता है।

एक कंटेंट राइटर क्या हैकंटेंट राइटर हिंदी  में क्या है?

कंटेंट राइटर वह व्यक्ति होता है जो कंटेंट लिखता है, यानी जो व्यक्ति किसी पर्सनल ब्लॉग, कंपनी की वेबसाइट, मैगजीन, न्यूज के लिए कंटेंट लिखता है, वह व्यक्ति कंटेंट राइटर कहलाता है।

उदाहरण के लिए, आप इस ब्लॉग को पढ़ रहे हैं। यह ब्लॉग मेरे द्वारा लिखा गया है और मैं इस ब्लॉग और इस ब्लॉग CONTENT का CONTENT लेखक हूं।

इसी तरह आप ब्लॉग लिखकर कंटेंट राइटर भी बन सकते हैं।

दोस्तों आप कंटेंट राइटर बन सकते हैं या किसी भी भाषा में CONTENT WRITINGकर सकते हैं। आप जिस भाषा में लिखना आसान समझते हैं या अपनी पसंद की भाषा में लिखकर कंटेंट राइटर बन सकते हैं।

अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर CONTENT WRITINGकी जरूरत किसे है?

CONTENT WRITING का महत्व:

 

दोस्तों CONTENT WRITING एक ऐसा क्षेत्र है जिसका बहुत बड़ा दायरा है। CONTENT WRITINGकी डिमांड दिनों दिन बढ़ती जा रही है। आप सोच रहे होंगे कि आखिर मांग कैसे बढ़ रही है? तो चलिए मैं आपको बताता हूँ।

पूरी दुनिया में ऐसे कई लोग हैं जिनके पास बड़ी-बड़ी ब्लॉग वेबसाइट, कंपनियां, न्यूज वेबसाइट हैं। तो ऐसे लोगों को अपना ब्लॉग चलाने के लिए ज्यादा कंटेंट की जरूरत होती है। यानी उनकी वेबसाइट पर जितना ज्यादा कंटेंट होगा उतना ही वो बढ़ते जाएंगे।

इसलिए उन्हें अपनी वेबसाइट के लिए ज्यादा से ज्यादा कंटेंट बनाने होंगे। CONTENT को दैनिक समाचार वेबसाइटों और ब्लॉग वेबसाइटों पर अपलोड करना होगा। यदि वे एक दिन में 10 पोस्ट लिखना चाहते हैं, तो यह एक या दो कंटेंट राइटर द्वारा नहीं किया जा सकता है।

इसके लिए उन्हें ज्यादा कंटेंट राइटर की जरूरत है। फिर उस ब्लॉग का मालिक दूसरा कंटेंट राइटर मांगता है. यानी वे अपने ब्लॉग पोस्ट लिखने का टास्क देते हैं और इसके लिए उन्हें अच्छा भुगतान करते हैं।

अभी भी कुछ ब्लॉगर हैं जो अच्छी CONTENT नहीं लिख पा रहे हैं लेकिन वे अपनी वेबसाइट के लिए ब्लॉग पोस्ट लिखने के लिए CONTENT लेखकों को किराए पर लेते हैं और प्रत्येक ब्लॉग पोस्ट के लिए उन्हें भुगतान करते हैं।

अब जैसे-जैसे कंटेंट राइटर की मांग बढ़ती है, कंटेंट राइटर्स को प्रति शब्द भुगतान करना पड़ता है। और अच्छे कंटेंट राइटर को प्रति शब्द के आधार पर भुगतान किया जा रहा है। एक ब्लॉग 1000-10000 शब्दों का होता है। तो आप अंदाजा लगा सकते हैं कि कंटेंट राइटर कितनी कमाई कर रहे हैं।

हिंदी  में CONTENT लेखक के प्रकार:

 

ऑनलाइन CONTENT लेखक:

 

ऑनलाइन कंटेंट राइटर जब कोई कंटेंट राइटर इंटरनेट से ऑनलाइन वर्क फ्रॉम होम लेता है और काम पूरा करके क्लाइंट को देता है तो उसे ऑनलाइन कंटेंट राइटर कहा जाता है।

आप जितना ज्यादा ऑनलाइन CONTENT WRITINGमें काम करेंगे उतना ही ज्यादा पैसा कमाएंगे। इसमें आप किसी भी ऑनलाइन नेटवर्क से काम पूरा कर सकते हैं। उदा. आप फेसबुक, इंस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया पर क्लाइंट्स से CONTENT WRITINGका काम ले सकते हैं।

ऑफ़लाइन CONTENT लेखक:

ऑफलाइन कंटेंट राइटर वह व्यक्ति होता है जो ऑफलाइन तरीके से पास के बिजनेस लोगों या पोस्ट ऑफिस से काम लेता है और पूरा करता है, ऑफलाइन कंटेंट राइटर कहलाता है।

लेकिन इन दिनों ऑफलाइन कंटेंट राइटर्स को जॉब नहीं मिल रही है इसलिए आपको ऑफलाइन CONTENT WRITINGके बजाय ऑनलाइन करना चाहिए।

फ्रीलांस कंटेन्ट रायटर (Freelance Content Writer):

एक फ्रीलांस कंटेंट राइटर वह होता है जो किसी कंपनी के लिए काम नहीं करता है। यह उससे स्वतंत्र है। वह freelancer.com , upwork.com जैसी फ्रीलांसिंग कंपनियों के जरिए क्लाइंट्स से काम लेता है और उन्हें पूरा करता है।

एक फ्रीलांस कंटेंट राइटर अपनी मर्जी से काम करता है, उसका कोई बॉस नहीं होता है। वह कंपनी से अनुबंध का काम लेता है और कंपनी उसे बदले में भुगतान करती है।

रेगुलर कंटेन्ट रायटर (Regular Content Writer):

एक नियमित कंटेंट राइटर एक कंपनी के लिए काम करता है। आसान शब्दों में कहें तो वह कंपनी में बतौर कंटेंट राइटर काम कर रहे हैं। उसे नियमित भुगतान किया जाता है।

यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि आप किस बारे में कंटेंट लिख रहे हैं।

  • व्यावसायिक वेबसाइटों के लिए CONTENT WRITING
  • SEO के लिए कंटेंट राइटिंग
  • ब्लॉग के लिए CONTENT WRITING
  • पत्रिकाओं के लिए CONTENT WRITING
  • वर्तमान पेपर के लिए CONTENT WRITING
  • टेलीविजन चैनलों के लिए CONTENT WRITING
  • YouTube वीडियो के लिए CONTENT WRITING

आइए जानें CONTENT WRITINGमें इस्तेमाल होने वाले शब्दों के बारे में जो एक कंटेंट राइटर को जरूर जानना चाहिए।

(Importance Terms Of Content Writing In Marathi):

शब्द गणना: एक लेख में कितने शब्द लिखे गए हैं, इसकी पूर्ण गणना शब्द गणना कहलाती है। उदा. एक लेख में 1000 शब्द हैं और इसकी शब्द संख्या 1000 है।

PPW (PPW- price per word): अगर हम CONTENT WRITINGके लिए पैसे लेते हैं, तो हमें वह पैसा वर्ड काउंट यानी मूल्य प्रति शब्द की गणना करके मिलता है। एक शब्द 50-60 पैसे कमाता है।

SEO : SEO का मतलब ‘सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन’ है। यानी आप जो कंटेंट लिखते हैं उसे गूगल पर रैंक करना जरूरी है। रैंक होने के बाद ही लिखित CONTENT अधिक पढ़ी जाती है और CONTENT को लाभ मिलता है। इसलिए कंटेंट राइटर के लिए SEO के बारे में जानना बहुत जरूरी है।

क्लाइंट: जो व्यक्ति हमें CONTENT WRITINGका काम करने देता है, उसे हम क्लाइंट कहते हैं।

कंटेंट प्रोजेक्ट: क्लाइंट से ब्लॉग/आर्टिकल लेना एक कंटेंट प्रोजेक्ट है।

फ्रीलांसर: जो व्यक्ति घर बैठे प्रोजेक्ट को हाथ में लेता है उसे फ्रीलांसर कहा जाता है। वह किसी कंपनी के लिए काम नहीं करता है, लेकिन अपने खुद के प्रोजेक्ट प्राप्त करता है।

CONTENT WRITINGकैसे सीखें? ( हिंदी में CONTENT WRITING कैसे करें ):

 

CONTENT WRITING सीखना इतना कठिन नहीं है। CONTENT WRITING तो कोई भी कर सकता है जिस व्यक्ति के पास थोड़ी सी शिक्षा हो और उसमें लिखने का जुनून होना चाहिए और अगर आप में कोई जुनून नहीं है तो भी आप इसे हासिल कर सकते हैं, अगर आप एक कंटेंट राइटर बनना चाहते हैं।

CONTENT WRITING सीखने और इससे पैसे कमाने के लिए आपको कुछ चीजें सीखने की जरूरत है।

1) subject चुने:

CONTENT WRITING के लिए सबसे जरूरी है कि आप जिस टॉपिक पर लिखना चाहते हैं, उसकी पूरी जानकारी आपको होनी चाहिए।

आला वह विषय है जिसके बारे में आप लिखना चाहते हैं।

 

तो आप अपनी पसंद की कोई भी जगह ले सकते हैं।

जब आप अपना niche select कर लेते हैं तो आपके लिए उस niche पर लिखना आसान हो जाता है. इसलिए आपको वह विषय चुनना चाहिए जिसमें आपकी रुचि हो या आपको अच्छी जानकारी हो।

2) Observation

CONTENT WRITING में अवलोकन बहुत महत्वपूर्ण है। आपको लोगों की CONTENT का निरीक्षण करना होगा। यह देखना महत्वपूर्ण है कि ऐसी CONTENT कौन लिखता है, छवियों का उपयोग कैसे किया जाता है, CONTENT कितने शब्दों में लिखी जाती है।

साथ ही, यदि आप अपने ब्लॉग के लिए CONTENT लिख रहे हैं, तो अपने प्रतिस्पर्धियों के ब्लॉग का निरीक्षण करना बहुत महत्वपूर्ण है। देखने से आप समझ जाते हैं कि उन्होंने कंटेंट कैसे लिखा है, किसने क्या चीजें जोड़ी हैं, कंटेंट के कितने शब्द लिखे हैं।

इन सभी चीजों को देखने से आपको अपना कंटेंट लिखने में मदद मिलती है। उदा. अगर आपके प्रतियोगी ने अपने ब्लॉग में कुछ पॉइंट्स नहीं जोड़े हैं तो आप उन पॉइंट्स को अपने ब्लॉग में जोड़ सकते हैं। उनसे ज्यादा शब्द लिख सकते हैं।

इसलिए CONTENT लिखने के बाद निरीक्षण करना महत्वपूर्ण हो जाता है।

तो चलिए देखते हैं कि अच्छा कंटेंट कैसे लिखा जाता है?

अच्छा कंटेंट कैसे लिखेंहिंदी  में अच्छा कंटेंट कैसे लिखें?

दोस्तों एक अच्छा कंटेंट राइटर बनने के लिए अच्छा कंटेंट लिखना जरूरी है। तभी आप CONTENT WRITINGमें करियर बना सकते हैं और अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं। तो आइए देखते हैं कि अच्छा कंटेंट लिखने के लिए क्या-क्या जरूरी है।

  • जितना हो सके पढ़ो।

 

महत्वपूर्ण बात यह है कि हमें पढ़ने का भी शौक होना चाहिए। एक अच्छा कंटेंट राइटर बनने के लिए आपको बहुत कुछ पढ़ना होगा। पढ़ने से नए विचार आते हैं, उन्हें लिख लें।

एक सफल CONTENT लेखक बनने के लिए लेखकों को विभिन्न WRITING शैलियों में महारत हासिल करने की आवश्यकता है उदा। कथा, कंदबारी, व्यक्तिगत ब्लॉग आदि।

यदि आप लिखने के लिए कोई विषय चुनते हैं, तो उस विषय पर खूब पढ़ें। विषय को भली-भांति समझ लें। फिर उस विषय पर अपनी भाषा में लेख/ग्रंथ लिखना शुरू करें।

  • topic पर लिखें। 

आप जिस टॉपिक पर लिखने जा रहे हैं, उसी टॉपिक पर लिखें। उस विषय के बारे में थोड़ी सी बात करना ठीक है, लेकिन किसी और चीज़ में तल्लीन करना ठीक नहीं है क्योंकि यह आपके पाठकों को विचलित कर सकता है।

उदा. अगर आप बता रहे हैं कि बिजनेस कैसे करना है, तो आप कह सकते हैं कि फेसबुक और इंस्टाग्राम पर अपने बिजनेस का विज्ञापन करें लेकिन उस ब्लॉग में फेसबुक और इंस्टाग्राम बिजनेस मार्केटिंग कैसे करें यह नहीं बताएं।

ऐसी चीजें न लिखें जो आप नहीं जानते। आपको पॉइंट टू पॉइंट लिखना सीखना चाहिए। नीचे अंक न लिखें। लिखें कि क्या पहले लिखा जाना चाहिए और क्या अंत में लिखा जाना चाहिए। बेसिक से एडवांस में लिखें। ताकि पाठकों को समझने में आसानी हो।

  • गलतियों से डरो मत। 

लिखते रहें, लिखने से आपको यह समझने में मदद मिलेगी कि आप अपने WRITING में क्या गलतियाँ कर रहे हैं। साथ ही अपने ब्लॉग को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें, उनसे फीडबैक लें और अपनी गलतियों को सुधारें।

  • technology का प्रयोग करें

आप इंटरनेट का उपयोग करके अपने WRITING में सुधार कर सकते हैं। आप इंटरनेट पर अन्य लोगों के लेख पढ़कर अधिक जानकारी एकत्र कर सकते हैं। आप लैपटॉप या मोबाइल पर MS-OFFICE/Word का उपयोग करके लेख लिख सकते हैं। आप अपने ब्लॉग/लेख इंटरनेट पर प्रकाशित कर सकते हैं।

>>>यह भी पढ़ें– ब्लॉग और ब्लॉगिंग क्या है?

  • गलत CONTENT लिखें। 

आप जिस विषय पर लिखने जा रहे हैं, उसके बारे में जानकारी इकट्ठा करें। ऐसी चीजें न लिखें जो आप नहीं जानते। यदि आप कोई भी गलत जानकारी लिखते हैं, तो लोगों का आपकी CONTENT पर से विश्वास उठ जाएगा और विज़िटर आपके ब्लॉग पर वापस नहीं आएंगे। इसलिए आप सही कंटेंट लिखें।

  • update रहना

आपको हर कुछ महीनों में अपनी CONTENT को अपडेट करते रहना चाहिए। अपने ब्लॉग/लेख पर टिप्पणियों का उत्तर दें। पता लगाएँ कि आपके पाठक किस चीज़ में रुचि रखते हैं और उसी के अनुसार CONTENT लिखें।

CONTENT WRITINGसे पैसे कैसे कमाएCONTENT WRITING से पैसे कैसे कमाए ?

 

दोस्तों कंटेंट ही भविष्य है इसलिए इसकी डिमांड कम नहीं होगी। लोगों को कंटेंट राइटर की जरूरत पड़ने वाली है, इसलिए आप एक अच्छे कंटेंट राइटर बनकर पैसा कमा सकते हैं। आप निम्न में से कुछ करके CONTENT WRITINGसे पैसे कमा सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको अपने टॉपिक के बारे में पता होना चाहिए। उस विषय पर किताबें, ब्लॉग पढ़ें। इसके बाद आपको जितना हो सके लिखने का अभ्यास करना चाहिए। लिखने के नए तरीके खोजें और नई शैली में CONTENT लिखने का प्रयास करें।
  • अपनी लिखित CONTENT को पीडीएफ फाइल में सेव करें। क्योंकि जब आपको क्लाइंट मिलते हैं, तो वे डेमो के रूप में आपकी लिखित CONTENT मांगते हैं।
  • जब आप अच्छी तरह से CONTENT लिखना शुरू करते हैं, तो freelancer.com, upwork.com जैसे प्लेटफॉर्म पर जाएं और अपना पोर्टफोलियो जोड़ें। यानी अपना खाता खोलें। इससे आपको बहुत अधिक ग्राहक मिल सकते हैं।
  • साथ ही आप फेसबुक ग्रुप से भी जुड़ सकते हैं। उसमें आप लोगों को अपना काम दिखाकर क्लाइंट्स प्राप्त कर सकते हैं। आप CONTENT WRITING या इससे संबंधित पृष्ठों का अनुसरण करके और उन्हें संदेश भेजकर भी Instagram पर क्लाइंट प्राप्त कर सकते हैं।
  • अगर आपके पास व्हाट्सएप ग्रुप हैं, तो आप वहां से भी क्लाइंट प्राप्त कर सकते हैं।
  • आप जानते हैं कि अब बहुत सारे YouTube चैनल खुल रहे हैं। उन्हें भी CONTENT चाहिए। आप अपने द्वारा लिखी गई CONTENT को मेल करके CONTENT लेखकों के लिए पूछताछ कर सकते हैं और ग्राहक प्राप्त कर सकते हैं।

 

CONTENT WRITING करके आप कितना पैसा कमा सकते हैं?

CONTENT WRITING में आपको प्रति शब्द भुगतान मिलता है। 50 पैसे से 1 रुपये प्रति शब्द। तो अब 1.50 रु. चार्ज कर रहे हैं और एक ब्लॉग या CONTENT 1000 शब्दों से अधिक है। आप अपने क्लाइंट को जितनी चाहें उतनी CONTENT लिखकर चार्ज कर सकते हैं।

आप अपनी WRITING क्षमता के अनुसार प्रोजेक्ट ले सकते हैं और उसे एक दिन में पूरा कर सकते हैं। यदि आप प्रतिदिन 1000 शब्दों के कम से कम 2 प्रोजेक्ट पूरे करते हैं, तो आप प्रतिदिन 2000 रुपये कमा सकते हैं। और आप हर महीने 50-60 हजार कमा सकते हैं।

लेकिन आप फ्रीलांसिंग का काम करके ऐसा कर सकते हैं। लेकिन अगर आप नौकरी करना चाहते हैं तो आपको जिस कंपनी में काम कर रहे हैं उसके हिसाब से आपको पैसे मिलते हैं।

फ्रेशर्स को नौकरी में ज्यादा भुगतान नहीं किया जाता है। आपके WRITING कौशल के आधार पर आपको प्रति माह 15-20 हजार का भुगतान किया जाता है। लेकिन आप जॉब के साथ-साथ पार्ट टाइम में भी फ्रीलांसिंग का काम कर सकते हैं।

इस तरह आप CONTENT WRITINGका काम करके पैसे कमा सकते हैं।

निष्कर्ष:

दोस्तों, इस ब्लॉग में CONTENT WRITING से आपका क्या मतलब है? CONTENT WRITING का हिंदी  में क्या मतलब होता है इसके बारे में सभी जानकारी देखी गई है। आप हमारे ब्लॉग के बारे में क्या सोचते हैं, हमें नीचे कमेंट करके अवश्य बताएं। मुझे भी बताएं कि क्या आपके कोई प्रश्न हैं। हम निश्चित रूप से आपके प्रश्न का उत्तर देने का प्रयास करेंगे।

पूरा ब्लॉग पढ़ने के लिए धन्यवाद। ब्लॉग अच्छा लगे तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करें।

 

 

Leave a Comment